महबूबा के बाद नीतीश का नंबर, क्या JDU से भी गठबंधन तोड़ेगी BJP? after mahbooba next nitish

0
145
modi-nitish-2009
modi-nitish-2009

BJP की ओर से JAMMU & KASHMIR में PDP के साथ गठबंधन वाली सरकार से अप्रत्याशित रूप से हटने का फैसले का ऐलान किए जाने के साथ ही देश की राजनीति अचानक गरमा गई है.

अगले लोकसभा चुनाव में अब एक साल से भी कम का समय रह गया है और माना जा रहा है कि आधुनिक राजनीति के चाणक्य कहे जाने वाले AMIT SHAH  अभी से चुनावी रणनीति बनाने में जुट गए हैं. हालिया उपचुनाव के परिणाम BJP के लिहाज से अच्छे नहीं रहे और उसे कई जगहों पर हार का सामना करना पड़ा है.
अगला नंबर BIHAR का?

अब कहा जा रहा है कि MODI-SHAH की जोड़ी JAMMU & KASHMIR वाला फैसला बिहार में भी ले सकती है. बिहार में जनता दल यूनाइटेड (JDU) पिछले साल जुलाई में NDA में शामिल हुई थी. हालांकि जब से JDU ने NDA में वापसी की है, BJP के लिए बहुत अच्छा नहीं रहा.




20 नवंबर, 2015 से 26 जुलाई, 2017 तक NITISH KUMAR बिहार में महागठबंधन में शामिल RJD और CONGRESS के साथ मिलकर सरकार चला रहे थे, लेकिन भ्रष्टाचार और घोटाले के नाम पर NITISH KUMAR महागठबंधन से बाहर हो गए और इसके एक दिन बाद उन्होंने BJP के साथ मिलकर BIHAR में फिर से नई सरकार बना ली.

लेकिन शायद NITISH के साथ BJP का जाना फायदेमंद साबित नहीं हुआ और पिछले महीने BIHAR में हुए उपचुनाव में इस गठबंधन को करारी हार मिली. जोकीहाट विधानसभा उपचुनाव में हार JDU के लिए बड़ा झटका था क्योंकि यह सीट NITISH KUMAR के लिए बेहद खास थी और पिछले 20 YEARS से उनकी पार्टी का इस सीट पर कब्जा था, लेकिन इस बार उन्हें हार मिली. इससे पहले भी उपचुनाव में उन्हें हार मिली थी.


उपचुनाव में हार के अलावा हाल में राज्य में घटी RAPE (गया, जहानाबाद, नालंदा, मुजफ्फरपुर) की कई घटनाओं और सांप्रदायिक हिंसा (भागलपुर, औरंगाबाद, समस्तीपुर) के कारण NITISH KUMAR को काफी शर्मसार होना पड़ा, BJP यहां पर नंबर दो की हैसियत में है और वह चुपचाप देखने को मजबूर है.

सीटों को लेकर हो सकती है तनातनी

दूसरी ओर, 2019 लोकसभा चुनाव में माना जा रहा है कि NDA के घटक दलों और BJP के साथ सीटों के बंटवारे को लेकर तनातनी दिख सकती है. बिहार पर नजर डालें तो एनडीए में सीट बंटवारे को लेकर खींचतान अभी से शुरू हो गई है. बीजेपी के प्रदेश महासचिव राजेंद्र सिंह ने दावा किया था कि पार्टी उन सभी 22 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी जिन पर पिछले लोकसभा चुनावों में उसे जीत हासिल हुई थी.

जवाब में जेडीयू की ओर से बीजेपी को चुनौती दी गई कि मुख्यमंत्री NITISH KUMAR के विश्वसनीय और स्वीकार्य चेहरे के बगैर ही वह सभी 40 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़कर दिखाए.

Please follow and like us:
YOUR ADD

Leave a Reply