दरभंगा में हुआ देश के पहले राष्ट्रपति राजेंद्र बाबू का अपमान, प्रतिमा पर ग्रीस मलने का मामला आया है।

0
115

दरभंगा में देश के पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद की प्रतिमा पर ग्रीस मलने का मामला प्रकाश में आया है। ताजा अपडेट अनुसार दरभंगा नगर भवन परिसर में पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद की प्रतिमा पर अज्ञात लोगों द्वारा जला हुआ ग्रीस मल दिया गया है। कारण भी अज्ञात है, लेकिन इस तरह की गतिवधि को अंजाम देना बहुत ही दुःखद है। गुजरते हुए 21वीं सदी को देखकर प्रतीत होता है कि आधुनिकता के मुंहाने पर पंहुचकर लोग अपने नैतिक आदर्श मूल्यों को जाने-अनजाने में भुल चुके हैं व भूल रहे है।




वरिष्ठ पत्रकार सतीश कुमार ने अपने फेसबुक पर खेद प्रकट करते हुए कहा है कि- दरभंगा नगर भवन परिसर में लगी पूर्व राष्ट्रपति देशरत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद की प्रतिमा पर जला हुआ ग्रीस मल दिया गया। 21वीं सदी में भी क्या हम इतने अज्ञानी हो सकते हैं? माफ करना देशरत्न, यह वह हिंदुस्तान नहीं, जिसकी आपने लड़ाई लड़ी थी।

वहीं कुमुद सिंह कहती हैं कि-राजेंद्र प्रसाद के प्रति नीतीश कुमार की नफरत आज कुछ यूं सामने आयी। मैं नीतीश कुमार लिख रही हूं इसका मतलब राज्‍य सरकार से है। आखिर क्‍यों पटेल और लोहिया के कदमों में लेट जानेवाले नीतीश राजेंद प्रसाद से इतनी नफरत करते हैं। देश रत्‍न से इतनी नफरत क्‍यों नीतीश जी। जेपी का ख्‍याल कीजिए, राजेंद्र आपके दुश्‍मन नहीं थे। अशोक से जरासंघ तक पटेल से लोहिया तक की आप बात करते हैं, लेकिन बिहार के संसदीय इतिहास के नायको चाहे वो
सच्चिदानंद सिन्‍हा हो या राजेंद्र प्रसाद अपनी जुबान पर नहीं आते। किस बात का डर। आप मगध के नहीं बिहार के मुख्‍यमंत्री हैं। आप उस संविधान के तहत मुख्‍यमंत्री हैं जो राजेंद्र बाबू ने दिया। ऐसा मत कीजिए नीतीश जी। नागपुर से इतना डर ठीक नहीं। राजेंद्र की इतनी उपेक्षा मत किजीए कि हमें पटेल और अंबेदकर से नफरत हो जाये।

दूसरी ओर प्रशासन ने इस बात को गंभीरता से लेते हुए जांच के लिए कमेटी का गठन कर दिया है। बताया जाता है कि दोषी व्यक्ति पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उधर सोशल मीडिया पर लोगों में आक्रोश देखा जा रहा है।

मिथिला स्टूडेंट यूनिन के सदस्यों ने की पर्तिमा को साफ़

इस घटना के बारे में जैसे ही दरभंगा के पास रह रहे मिथिला स्टूडेंट यूनिन को पता चला उन्होंने तुरंत उस अस्थान पर पहुच कर राजेंद्र बाबु के पर्तिमा को साफ़ किया और शर्धा – सुमन अर्पित किये साथ ही परशासन से इसके लिए जाँच की मांग किया | मिथिला स्टूडेंट और आस पास के लोगो को कहना है की यह घटना एक सोची – समझी साजिस के तहत की गयी है यंहा कुछ आपतिजनक तत्व है जो की आपसी सोहाद्र बिगारना चाहते है |

 

Please follow and like us: