आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

हिंदी बिक रही है? औकात है खरीद लीजिये ।

हिंदी बिक रही है? औकात है खरीद लीजिये ।

कल "विश्व्व हिंदी दिवस" था और आज विश्व में "हिंदी "की बोली लग रही बड़ा  दुःख हुआ जब मैंने  ये जाना । शब्दों में बया नहीं कर सकता । दरशल मैं कल हिंदी के बारे में जानने के लिए गूगल पर सर्च किया  hindi.com पता चला  की डोमिन नाम किसी ब्रोकर enaming .com ने  खरीद रखा है और बकायदा सेल लगा रहा है कीमत कीमत ऐसा जिसे देखकर हर हिंदुस्तानी चिढ जाये । १२५०००० वो भी डोलोर में यानि एक हिंदुस्तानी की हिंदी की कीमत १ डोलोर । देख बेटा enaming .com एक तो मैं हिंदुस्तानी हूँ ऊपर से बिहारी जब से मोदी जी १२५०००० रूपए की बात कर के गए है माथा ऐसे ही ठनकते रहता है , कंही भड़ास तुम पर न निकल दू

 


 बेटा ,enamaning .com  सेल -वेळ का काम ये तुम से न हो पायेगा एक हिंदुस्तानी की कीमत तुम्हारे बाप भी नहीं लगा पाए तुम्हारी क्या औकात है, अब डोमेन ले लिए हो तो हिंदी में कुछ लिखो अ - आ लिखने से हिंदुस्तानी बेबकूफ नहीं बनने वाला तुम्हारे इस डोमेन नाम का seo  bihardelegation.com से भी कम है । । अब ये तो बात रही अंग्रेजी वाली hindi.कॉम की अब जरा हिंदी वाली हिंदी .com सर्च करलू ,  ले बालियाँ साला इ भी खरीद रखे है । देखता हूँ ई वाला पक्का किसी  हिंदुस्तानी ने ख़रीदा होगा .......ऊ ऊ इंहा भी गरबर माने की ये भी सेल पर ही है webiste  के मालिक में बारे में जानने के लिए मैंने http://whois.domaintools.com/ का सहारा लिया पता लगा की ये डोमेन भी उसी व्यक्ति ने लिया है enamanig वाले खैर बूरा तो लग रहा था कभी कभी सोच रहा था की पैसे देकर उनसे डोमेन खरीद ही लूँ लेकिन फिर इतने पैसे भी तो नहीं है मेरे पास , फिर सोचा ऐसे लोग हमारे भावना गलत फायदा उठाते है , मैं आप को बता दू डोमेन नाम अट्रैक्टिव होने से कुछ नहीं होता कोई सर्च इंजन में आगे पीछे कर का लफड़ा नहीं है हमारे वेबसाइट का seo उनसे ज्यादा है कारण हमने अपने वेबसाइट पर उनसे ज्यादा जानकारी शेयर कर रखी है  , इसलिए जो कोई लोग इस डोमेन को खरीदने की सोच रहे है उन्हें बता दू कोई जरूरी नहीं है पड़े रहने दीजिये इस हिंदी डॉट कॉम इंटरनेट के किसी कोने में और अपने हिंदी अपने मेहनत से लगन से अपने जिस भी ब्लॉग पर काम कर रहे है दुनिया में भेजिए ।दरशल हिंदुस्तान से जुड़े या दुनिया में जो भी अलग - अलग देश है जहाँ इंटरनेट लेट से पहुंची है ।की जितनी भी अच्छी चीज है उसका नाम पहले ही इंटरनेट जो जन्म देने वाले इन देशो ने सहेज रखा है , और ये डोमेन नाम बेचने का धंधा नहीं भावना को बेचने का धंधा चालते है ।अपनी भावना पर खुद सहेजे किसी ऐसे डोमेन नाम के लालच में न पढ़े ।कोर्ध को शांत कर ले अगर ऐसा नहीं कर कर सकते तो आप भी नए डोमेन प्रोवाइडर बनिए जैसे है .com,.info,.in,.org वैसे आप भी hind.व्यक्तिगत , hindi.सामाजिक ,hindi.वेवशाय नामक डोमिन प्रोवाइडर बनिए और अपने देश के सारे नाम बुक कर लीजिये








No comments