बिहार के समस्तीपुर में मैट्रिक का एग्जाम देने आई एक लड़की के हौसले को देखकर हर कोई हैरान था। लड़की के एक हाथ स्लाइन चढ़ाने के लिए ड्रिप लगी थी तो एक पैर में गहरा जख्म था। पता चला कि लड़की परीक्षा देने आ रही थी कि रास्ते में बोलेरो से उसका एक्सीडेंट हो गया।



उसके पैरों में काफी चोटें आईं जिसके बाद जख्मी हालत में बच्ची को हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया। ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने बच्ची का इलाज किया। बच्ची की जिद थी कि वह किसी हाल में बोर्ड की परीक्षा नहीं छोड़ेगी। इसके बाद जख्मी हालत में परिवार के लोग एंबुलेंस में बैठाकर उसे परीक्षा केंद्र ले गए। बच्ची ने जख्मी हालत में ही परीक्षा दी।

इस साहसी लड़की का वीडियो भी वायरल हो रहा है। बच्ची के एक हाथ में स्लाइन लगाने की ड्रिप चढ़ी हुई है, अपने पैर भी ठीक से नहीं रख पा रही और उसके बावजूद भी वो प्रश्नपत्र सॉल्व कर उत्तरपुस्तिका में आंसर लिख रही है।


घायल बच्ची का नाम श्वेता कुमारी है वो सरायरंजन थाना के गुरमा गांव की रहने वाली है और उसकी बोर्ड   परीक्षा का सेंटर मोहनपुर के उतक्रमित मिडिल स्कूल में पड़ा है, जहां वह परीक्षा दे रही है। परीक्षा देने जाते वक्त तेज स्पीड में आ रही बोलेरो ने उसे टक्कर मार दी जिसके बाद वह बुरी तरह घायल हो गई थी। 
मौके पर मौजूद लोगों ने उसे घायल अवस्था में अस्पताल पहुंचाया। डॉक्टर ने उपचार किया और स्लाइन चढ़ाया होश में आते ही वह परीक्षा देने की जिद करने लगी, तो लोगों ने मना किया कि एेसी हालत में वह कैसे परीक्षा दे सकेगी? लेकिन लड़की की जिद के आगे लोग झुक गए और उसी हालत में उसे परीक्षा केंद्र लाया गया और लड़की ने परीक्षा दी।


 
By Kajal Kumari