आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

ताकि पीछे न रह जाये हमारा बिहार -सरकारी स्कूलों को स्मार्ट बना रहे है ये युवा। पेंसिल से लेकर चार्ट तक स्कूलों में उपलब्ध कराते हैं।

स्मार्ट क्लास में बैठे बच्चे और क्लास को स्मार्ट बनाते युवक


ताकि पीछे न रह जाये हमारा बिहार -सरकारी स्कूलों को स्मार्ट बना रहे है ये युवा। पेंसिल से लेकर चार्ट तक स्कूलों में उपलब्ध कराते हैं।

बिहार के सीतामढ़ी में जन्मे तौशिफ आलम की बचपन की पढ़ाई बिहार में ही पूरी जी जब हायर एडुकेशन के पढ़ाई के लिए कुरुक्षेत्र (हरयाणा) गए और वँहा की स्कूलों की व्यवस्था देखा तो उन्हें लगा की हमारे यँहा भी इस तरह के स्मार्ट स्कूल होना चाहिए। कभी कभी सोचेते थे क्यों न एक स्मार्ट स्कूल बनाया जाए , फिर उनके दिमाग मे ख्याल आया एक स्मार्ट स्कूल से क्या होगा। क्योंकि जो स्कूल जज्जर इस्तिथि में पड़ी उन्हीं को स्मार्ट बनाया जाए । सबसे पहले नजर पड़ी सरकारी स्कूल पर




अब समय था अपने प्लान को मूर्त रूप देने की इसके लिए उन्होंने एक संस्था बनाया The humanity । इस संस्था मुख्य उद्देश्य वे बच्चे जिनके को शिक्षा की जरूरत उन तक शिक्षा कैसे पहुचाया जाये। उनको स्कूल तक पहुँचा कर ही संस्था अपने कर्तव्यों से मुक्त नहीं होना चाहती है इसके लिए
बच्चों के सेहत का ख्याल रखना, उपयोगी खाध सामाग्री उपलब्ध कराना, जरूरत के कपड़े उपलब्ध कराना, उनके लिए कॉपी कलम की व्यवस्था करना ।

और सबसे बड़ा लक्ष्य उनके विद्यालय को स्मार्ट कैसे बनाया जाए इसके लिए उन्होंने और उनके टीम ने कमर कस रखी है पहले सरकारी विद्यालय का चयन करती है, निरीक्षण क्या -क्या जरूरी चीजों का अभाव है । फिर जुट जाते है स्कूल को स्मार्ट बनाने में, स्कूल चाहे , वर्णमाला, अल्फाबेट, गिनती, कहानी का चार्ट लगाना हो। स्मार्ट ब्लैकबोर्ड की व्यवस्था करनी हो , इसको को सजाने के लिए दीवारों पर पेंटिंग करनी हो। हो या बच्चों क़े टोलेट को साफ सुथरा रखना। उनके पीने की पानी की व्यवस्था देखिनी हो। सभी कार्य स्कूल के प्रधानाध्यापक के सलाह से पूरा करते है ताकि सरकारी स्कूल भी स्मार्ट बने इनका लक्ष्य अगले पांच साल में 100 सरकारी स्कूल को स्मार्ट बनाना है ,





 हमारे साथ हुए बात -चीत उन्होंने बताया की लोगों का समर्थन और सहयोग हमे मिलता रहे तो हम और भी ज्यादा अच्छा करना चाहेंगे इनका बेहतरीन कार्य देख कर बिहार अलावा सात और राज्यों के लोगों के निवेदन औऱ सहयोग पर वँहा के भी सरकारी स्कूलों को स्मार्ट बनाने में जुटे हुए है।

नोट- नीचे हमनें इनको मिले सम्मान और सहायता कँहा करे विवरण दे रहे , बिहार डेलिगेशन आपसे विन्रम निवेदन करता है अगर आप आर्थिक मदद नहीं कर पा रहे तो कृपया इस पोस्ट को शेयर जरूर कर दे ताकि इनको आपके किसी और मित्र से मदद मिल जाये। आखिर बच्चों के भविष्य का सवाल है।



No comments