आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

सत्‍याग्रह से स्‍वच्‍छाग्रह LIVE: सीएम नीतीश बोले- बिहार में स्‍वच्‍छता को ले चल रहा बड़ा अभियान


सत्‍याग्रह से स्‍वच्‍छाग्रह LIVE: सीएम नीतीश बोले- बिहार में स्‍वच्‍छता को ले चल रहा बड़ा अभियान

सत्‍याग्रह से स्‍वच्‍छाग्रह LIVE: सीएम नीतीश बोले- बिहार में स्‍वच्‍छता को ले चल रहा बड़ा अभियान
चंपारण सत्‍याग्रह के सौ साल बाद मंगलवार को पीएम मोदी बापू की कर्मभूमि में स्‍वच्‍छाग्रह का आगाज करेंगे। इसके तहत वे देश के चार लाख स्‍वच्‍छाग्रहियों को संबोधित करेंगे।





चंपारण सत्याग्रह की भूमि मोतिहारी के ऐतिहासिक गांधी मैदान से मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार और देश की जनता को स्वच्छता का संदेश देंगे। वे देश के चार लाख स्‍वच्‍छाग्रहियों को संबोधित करेंगे। कार्यक्रम में देश के विभिन्न राज्यों से आए तकरीबन 20,000 स्वच्छाग्रही उपस्थित रहेंगे। मोतिहारी में आयोजित कार्यक्रम के दौरान वे वहां दो घंटे रहेंगे।
कार्यक्रम स्थल पर ही प्रधानमंत्री 13 जिलों के जिलाधिकारियों के साथ बैठक में स्वच्छता अभियान की समीक्षा करेंगे। वे कई योजनाओं का करेंगे शिलान्यास व उद्घाटन भी करेंगे। मोदी के साथ मंच पर बिहार के राज्यपाल सत्य पाल मलिक, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी मौजूद रहेंगे।

इसके पहले सोमवार को राज्य व केंद्र सरकार के अधिकारियों की टीम ने कार्यक्रम स्थल का जायजा लिया। देर शाम जांच के बाद एसपीजी ने गांधी मैदान को अभिरक्षा में ले लिया।



बिहार: गांधी की कर्मभूमि में PM मोदी के लिए बना अस्थायी PMO, जानिए
यह भी पढ़ें
'


सत्याग्रह से स्वच्छताग्रह' के बैनर-झंडों से पटा शहर 

चंपारण के इतिहास में यह नया अध्याय जुड़ रहा है जब बापू के सत्याग्रह की भूमि से देश के प्रधानमंत्री स्वच्छता का संदेश देंगे।  प्रधानमंत्री के आगमन को देखते हुए मोतिहारी में विशेष इंतजाम किए गए हैं। पूरे शहर में सत्याग्रह से स्वच्छताग्रह के नारे लिखे गए हैं। बैनर-झंडों में भी यही संदेश चारो ओर लगाए गए हैं।
सत्‍याग्रह से स्‍वच्‍छाग्रह लाइव...
बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने संबोधित किया। कहा...
गांधी जी ने सत्‍याग्रह के साथ स्‍वच्‍छता के लिए भी प्रेरित किया। उन्‍होंने शिक्षा पर भी जोर दिया। आजादी के बाद इसपर ठीक से अमल नहीं हुआ। गांधीजी के बाद स्‍वच्‍छता को अगी किसी ने ठीक से उठाया तो वे लोहिया थे। हमें स्‍वच्‍छता के लिए समर्पित होना पढ़ेगा। हमने बिहार में इसके लिए विशेष अभियान चलाया है। इसके अलावा हर घर नाली व स्‍वच्‍छ पेयजल को लेकर भी अभियान चलाया जा रहा है। स्‍वच्‍छता को लेकर अभियान से ही प्रगति होगी। बिहार के स्‍कूलों में गांधी के विचारों से नई पीढ़ी को अवगत कराया जाएगा। स्‍कूलों में उनकी कथाएं पढ़ाई जाएंगी। अगर नई पीढ़ी का 10 फीसद भी गांधी के विचारों को अपना ले तो समाज व देश बदल जाएगा।
प्रधानमंत्री ने रिमोट से स्‍वच्‍छाग्रही ई-बुक का लोकार्पण किया।
केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने संबोधित किया। कहा...
आजादी के पहले ही आजाद भारत के स्‍वरूप का सपना महात्‍मा गांधी ने देखा था। गांधी जी को जब दक्षिण अफ्रीका में ट्रेन से उतार दिया गया तब उन्‍हें लगा कि रोटी ही काफी नहीं, इज्‍जत भी जरूरी है। गांधी ने स्‍वच्‍छता का सपना देखा था। उनके और भी कई सपने थे। वे चाहते थे कि लोगों को रोटी मिले, साथ ही सम्‍मान के साथ जीने का अधिकार भी मिले। यही उनका राम राज्‍य था। लंबे समय तक उनके सपने के पूरा होन की प्रतीक्षा होती रही। मैंने नरेंद्र मोदी को गुरु मानकर सीखा कि विकास के लिए कैसे काम हो सकता है। गांधीजी के सपनों को पूरा करने के लिए नरेंद्र मोदी आगे आए हैं।
प्रधानमंत्री मोदी ने हमसफर एक्‍सप्रेस को हरी झंडी दिखाई। साथ ही रेलवे की योजनाओं का शिलान्‍यास व उद्घाटन किया।
केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने संबोधित किया। कहा...
अफ्रीका के बाद गांधी जी का सफल सत्‍याग्रह चंपारण में सफल रहा। इस सत्‍याग्रह ने देश को दिशा दी। यहां उन्‍होंने स्‍वच्‍छता व सत्‍याग्रह का सबक दिया। गांधी जी के दो अस्‍त्र थे- सत्‍याग्रह व स्‍वच्‍छता। जैसे गांधी के नाम से सत्‍याग्रह जुड़ा है, वैसे ही नरेंद्र मोदी के नाम से स्‍वच्‍छता जुड़ जाएगा। रामविलास पासवान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास नीति है। उनकी नीयत भी साफ है।
प्रधानमंत्री ने रिमोट से विभिन्‍न विकास योजनाओं का उद्घाटन किया। मोतिहारी में मोती झील के सौदर्यीकरण, बेतिया में स्‍वच्‍छ पेयजल आपूर्ति तथा नवामी गंगे परियोजना का प्रधानमंत्री ने उद्घाटन किया।
केंद्रीय मंत्री व मोतिहारी के भाजपा सांसद राधा मोहन सिंह ने संबोधित किया।
चंपारण सत्‍याग्रह व स्‍वच्‍छता आंदोलन से संबंधित लघु फिल्‍म दिखाई गई।
उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी ने अतिथियों का स्‍वागत किया। कहा...
गांधी जी ने सौ साल पहले न केवल अंग्रेजों के खिलाफ सत्‍याग्रह किया था, बल्कि स्‍वच्‍छता का भी संदेश दिया था। चंपारण ने गांधी को महात्‍मा में बदला।
प्रधानमंत्री सहित तमाम बड़े नेता मंच पर पहुंचे। 
गांधी मैदान परिसर में लगे स्वच्छ रथ व अन्य प्रदर्शनियों का प्रधानमंत्री ने अवलोकन किया। प्रधानमंत्री ने स्वच्छ रथ के पास पहुंची महिला से बात की।
प्रधानमंत्री मोतिहारी पहुंच चुके हैं। अब थोड़ी देर बाद वे कार्यक्रम के मंच से स्‍वच्‍छता का संदेश देंगे। 
पटना एयरपोर्ट पर कुछ देर रहने के बाद प्रधानमंत्री हेलीकॉप्‍टर से मोतिहारी के लिए रवाना हो गए हैं। अब कुछ ही देर में वे मोतिहारी पुलिस लाइन में बनाए गए विशेष हेली पैड पर लैंड करेंगे।
प्रधानमंत्री 10 बजे पटना एयरपोर्ट पहुंचे। वहां उनके स्‍वागत के लिए राज्‍यपाल सत्‍यपाल मल्लिक तथा मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पहले से उपस्थित थे। एयरपोर्ट पर राज्यपाल सत्यपाल मलिक व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुलाब का फूल देकर उनका स्वागत किया। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री उमा भारती, रामविलास पासवान, रविशंकर प्रसाद व उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी समेत कई भाजपा नेता व मंत्री मौजूद रहे।
प्रधानमंत्री के आगमन के पहले टेंट सिंटी में ठहरे एक स्‍वच्‍छाग्रही की हार्ट अटैक से मौत हो गई। देर रात उनकी स्थिति बिगड़ने पर चिकित्‍सा सुविधा उपलब्‍ध कराई गई, लेकिन बचाया नहीं जा सका।
- प्रधानमंत्री के आगमन को देखते हुए सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। शहर में यात्री व बड़े वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।
मोतिहारी के गांधी मैदान में कार्यक्रम स्‍थल पर स्‍वच्‍छागही स्‍थान ग्रहण कर चुके हैं। सुबह से ही वे आने लगे थे।
प्रधानमंत्री की यात्रा व सत्याग्रह से स्वच्छाग्रह अभियान के तहत शहर की सड़कें स्वच्छ दिख रहीं हैं।
कार्यक्रम के लिए दिया 'चलो चंपारण' का नारा
प्रधानमंत्री गांधी मैदान में बने जिस मंच से समारोह को संबोधित करेंगे उसके दोनों ओर स्वच्छाग्रहियों और अन्य विशेष लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है। मंच के सामने के खाली स्थान पर चंपारण सत्याग्रह से जुड़े आंदोलन के सत्याग्रहियों की प्रतिमाएं और बापू का चरखा लगाया गया है। मोतिहारी में इस कार्यक्रम का आयोजन स्वच्छता और पेयजल मंत्रालय की ओर से किया गया है। इस कार्यक्रम के लिए मंत्रालय ने 'चलो चंपारण' का नारा दिया है।
प्रधानमंत्री का कार्यक्रम, एक नजर 
प्रधानमंत्री मंगलवार की सुबह 10 बजे वायुसेना के विमान से पटना एयरपोर्ट पर पहुंचेंगे। यहां से वे हेलीकॉप्टर से 11 बजे मोतिहारी पुलिस केंद्र पहुंचेंगे। वहां वे गांधी मैदान के पास बाल उद्यान में बापू की प्रतिमा पर माल्यार्पण करेंगे। फिर, सीधे स्वच्छता सम्मेलन के मंच पर पहुंचेंगे, जहां से देश को स्वच्छता का संदेश देंगे। इस बीच वे कई योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन करेंगे। समय निकालकर वे बिहार के 13 जिलों के डीएम के साथ भी बैठक करेंगे।
इन योजनाओं का करेंगे शिलान्यास व उद्घाटन
प्रधानमंत्री चंपारण से वीडियो कांफ्रेंसिंग द्वारा रेलवे की तीन परियोजनाओं के अलावा कई अन्‍य योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन करेंगे। चंपारण हमसफर एक्सप्रेस को वीडियो कांफेंसिंग के जरिए हरी झंड़ी दिखाकर कटिहार स्टेशन से रवाना करेंगे। यह ट्रेन कटिहार से बापूधाम होते हुए दिल्ली के लिए सप्ताह में दो दिन सोमवार और गुरुवार को चलेगी। जबकि, दिल्ली से मंगलवार और शुक्रवार को बापूधाम मोतिहारी होते हुए कटिहार जाएगी। मधेपुरा विद्युत इंजन कारखाना में निर्मित पहले विद्युत इंजन को हरी झंडी दिखाएंगे। मुजफ्फरपुर- सुगौली और सुगौली-वाल्मीकिनगर रेल लाइन के दोहरीकरण कार्य का भी शुभारंभ होगा।
प्रधानमंत्री बेतिया शहर में अमृत योजना के तहत वाटर सप्लाई योजना शुरू करेंगे। मोतिहारी की मोतीझील के लिए तैयार परियोजना का भी शुभारंभ करेंगे।
कार्यक्रम में ये रहेंगे मौजूद 
स्वच्छता सम्मेलन में जल एवं स्वच्छता मंत्री उमा भारती, केंद्रीय विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद, खाद्य व आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान, कृषि व किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह, सूक्ष्म लघु व मध्यम उपक्रम मंत्री गिरिराज सिंह, ऊर्जा मंत्री राज कुमार सिंह, सिंह, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी चौबे, संचार एवं रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा, ग्रामीण विकास मंत्री राम कृपाल यादव, पेयजल एवं स्वच्छता राज्य मंत्री एसएस अहलूवालिया, सुरेश कुमार शर्मा, श्रवण कुमार, पीएचईडी मंत्री विनोद नारायण झा आदि रहेंगे। 
By Amit Alok
SOURCE-  DAINIK JAGARAN

No comments