आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

पढ़िए SC ST ACT को लेकर BHARAT BAND का कितना रहा असर ?

SC/ST ACT  के मुद्दे को लेकर आज भारत बंद के समर्थन में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव आज पटना में सड़क पर उतरे और कहा कि यह अन्याय है इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।


पढ़िए SC ST ACT को लेकर BHARAT BAND का कितना रहा असर ? 

BHARAT BAND  के दौरान कई शहरों में हिंसा, 6 की मौत, मरीज- डॉक्टरों तक पर हमला


SC/ST ACT  में बदलाव के खिलाफ दलित संगठन सोमवार को देशभर में प्रदर्शन कर रहे हैं. भारत बंद के आह्वान पर देश के अलग-अलग शहरों में दलित संगठन और उनके समर्थकों ने ट्रेन रोकीं और सड़कों पर जाम लगाया. उत्तर प्रदेश से लेकर बिहार, मध्यप्रदेश और राजस्थान समेत कई राज्यों में तोड़फोड़, जाम और आगजनी की घटनाएं सामने आई हैं.

SC-ST एक्ट के तहत दर्ज मामलों में तत्काल गिरफ्तारी पर रोक लगाने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में बुलाए गए भारत बंद के समर्थन में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव भी पटना की सड़क पर उतरे जहां उनका साथ जीतनराम मांझी ने दिया।
तेजस्वी ने अपनी पार्टी के विधायकों के साथ बिहार विधानसभा से मार्च की शुरुआत की। वह विधानसभा से डाकबंगला चौक पहुंचे। तेजस्वी के साथ हजारों की संख्या में उनके समर्थक भी उनके साथ कदम से कदम मिलाकर चल रहे थे। 
घंटों डाक बंगला चौराहा में लगा रहा जाम

अपने समर्थकों के साथ तेजस्वी यादव जैसे ही डाक बंगला चौराहा पहुंचे हर तरफ जाम लग गया। इस दौरान तेजस्वी ने कहा कि केंद्र की सरकार पिछड़ों पर अत्याचार कर रही है। एससी और एसटी तबके को दबाने की कोशिश की जा रही है।
तेजस्वी ने कहा कि हमारी पार्टी दलितों के खिलाफ कोई भी काम नहीं होने देगी। हम दलितों की लड़ाई पहले से ही लड़ रहे हैं और आगे भी इसे जारी रखेंगे। हम दलितों के खिलाफ अन्याय हरगिज बर्दाश्त नहीं करेंगे।
मध्यप्रदेश और राजस्थान के अलग-अलग इलाकों में हालात काफी नाजुक हैं. एमपी में अब तक 5 और राजस्थान में एक व्यक्ति की मौत हो गई है, जबकि राजस्थान के बाडमेर में एक हिंसक झड़प में 25 लोग घायल हुए हैं.
दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर एससी/एसटी एक्ट में कई बदलाव हुए थे. जिसके बाद केंद्र सरकार पर आरोप लग रहे हैं कि अदालत में इस मामले पर मजबूती से पक्ष नहीं रखा गया. जिसके विरोध में आज दलित संगठनों की तरफ से भारत बंद बुलाया गया. हालांकि, सरकार ने अब इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल कर दी है. लेकिन सुबह से पूरे देश से हिंसा की खबरें आ रही हैं.
यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने हिंसा की निंदा की है, लेकिन उन्होंने एससी-एसटी एक्ट का समर्थन किया है. उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ लोगों ने हिंसा भड़काई है. साथ ही यह मांग भी की जिन्होंने हिंसा फैलाई उनके खिलाफ एक्शन होना चाहिए.

 कई शहरों में पुलिस थानों को भी निशाना बनाया गया है. साथ ही सरकारी वाहनों में आगजनी की गई है. प्रदर्शनकारियों के बवाल के चलते कई रूट पर ट्रेनें चल नहीं पाईं. साथ ही कई हाईवे घंटों तक जाम रहे.


हिंसक हुआ विरोध
प्रदर्शन के दौरान हिंसक झड़प में मध्यप्रदेश के मुरैना में फायरिंग की खबर है. पुलिस फायरिंग में यहां एक व्यक्ति की मौत हो गई है. जिसके बाद इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया है. जबकि दूसरी तरफ ग्वालियर में प्रदर्शन कर रहे दो समूहों के भिड़ने पर दो लोगों की मौत होने की खबर है. अब भिंड में भी एक मौत की खबर है. वहीं, राजस्थान के अलवर में आंदोलन उग्र होने पर पुलिस की फायरिंग में 3 युवक जख्मी हो गए हैं.

No comments