आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

पटना एम्स के न्यूरो सर्जरी विभाग को मिली अनुमति , होगी अब न्यूरो सर्जरी की पढ़ाई

Patna : अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), पटना में न्यूरो सर्जरी विभाग में दो सीटों पर सुपरस्पेशियलिटी की पढ़ाई होगी। यह अनुमति मेडिकल काउंसिल आॅफ इंडिया द्वारा मानकों को पूरा करने के बाद एम्स दिल्ली के न्यूरो सर्जरी विभाग की जांच के बाद दी गई है। भारतीय चिकित्सा परिषद एवं अन्य मानकों को पूरा करने के बाद एम्स दिल्ली के टीम के निरीक्षण के बाद यह अनुमति दी गई। कुछ दिन पहले की बात करें तो पटना। एम्स के न्यूरो सर्जरी विभाग में पहली बार इंडोस्कोपिक ब्रेन सर्जरी की गई है।
पूरे बिहार में ऐसी सर्जरी पहली बार हुई है। 60 वर्षीय मरीज को पिट्यूटरी ट्यूमर था, जिसे नाक के रास्ते मशीन डालकर निकाला गया। एम्स के न्यूरो सर्जन डॉ. विकास चंद्र झा और उनकी टीम ने यह सर्जरी की। एम्स दिल्ली की टीम ने निरीक्षण में यहां की व्यवस्था की भी तारीफ की है। अब एम्स दिल्ली की ओर से आयोजित होने वाली परीक्षा में उत्तीर्ण छात्रों को पढ़ाई का मौका मिलेगा।

बिहार के लिए यह तकनीक नई है। यह ब्रेन एवं स्पाइन की जटिल सर्जरी है। दिल्ली एम्स, अपोलो और मेदांता जैसे अस्पतालों में ही ऐसी सर्जरी होती थी। अब पटना एम्स में भी यह सुविधा उपलब्ध हो गई है। एम्स में मात्र 15 से 20 हजार रुपये में हो जाती है, अन्य अस्पतालों में चार से पांच लाख रुपये खर्च आते हैं।
इसमें केवल एमएस जनरल सर्जरी पास छात्रों को भी आवेदन करने का अवसर प्राप्त होगा। पढ़ाई पूरी करने के बाद एमसीएच की डिग्री हासिल कर उच्च कोटी के न्यूरो सर्जन बन जाएंगे। गौरतलब है कि तीन महीने में विभाग में 80 न्यूरो सर्जरी की जा चुकी है। विभाग के डॉ. विकास चंद्र झा ने बताया कि विभाग में मरीजों के ब्रेन ट्यूमर, ब्रेन हैम्रेज, स्पाइन की चोट, स्पाइन का ट्यूमर का इलाज अत्याधुनिक मशीन के द्वारा आरंभ किया गया है।
SOURCE - MAI BIHARI

No comments