आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

उपेंद्र कुशवाहा का पॉलिटिकल U-TURN, कहा- नीतीश मेरे बड़े भाई है, कुर्बानी देने में पीछे नहीं हटूंगा

PATNA : केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार को बड़ा भाई बताया है। बुधवार को पटना में कुशवाहा ने कहा कि उपेन्द्र कुशवाहा और नीतीश कुमार के रिश्ते को कोई नहीं जानता। नीतीश कुमार मेरे बड़े भाई जैसे हैं। जितना मैं नीतीश कुमार को जानता हूं, उतना ही नीतीश कुमार भी मेरे बारे में जानते हैं।
उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार अब अगली बार बिहार के मुख्यमंत्री पद पर रहना नहीं चाहते हैं। उन्होंने व्यक्तिगत तौर पर मुझसे कहा है कि अब मैं और कितने दिनों तक मुख्यमंत्री के पद पर रहूंगा। 15 वर्षो का वक्त कुछ कम नहीं होता। अब मैं यह स्थान छोड़ना चाहता हूं। कुशवाहा बुधवार को रविंद्र भवन में रालोसपा के युवा संगठन युवा लोक समता की ओर से आयोजित पटेल जयंती समारोह का संबोधित कर रहे थे।
कुशवाहा ने कहा कि हम दोनों के बीच के रिश्ते को गलत समझने वाले धोखा खाएंगे। कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार को जनता ने ही बनाया है। इशारों ही इशारों में कुशवाहा ने इस बयान के बाद एक बार फिर से सीएम पद की दावेदारी ठोक दी है। कुशवाहा ने कहा कि मंच से नारा लगाने से कुछ नहीं होता। समय आने पर बिहार की जनता तय करेगी कि प्रदेश का मुख्यमंत्री कौन होगा। इसके लिए मेहनत करनी पड़ती है और जनता के सुख-दुख में शामिल होना पड़ता है।
उन्होंने यह भी कहा कि मेरे और नीतीश कुमार के बीच किसी अन्य को कुछ भी बोलने का हक नहीं है। उन्होंने नीतीश कुमार को अपना बड़ा भाई बताया। कहा मेरी इन बातों का कोई गलत अर्थ न लगाया जाए। मैं एनडीए में हूं और आगे भी बना रहूंगा। उन्होंने कहा फिलहाल एनडीए के घटक दलों के बीच सीट बंटवारे को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ है। हम एनडीए में हर तरह की कुर्बानी देने को तैयार हैं। साथ ही यह भी फिर दोहराया जब जरूरत पड़ती है तब रालोसपा से कुर्बानी की उम्मीद क्यों की जाती है। फायदे के वक्त रालोसपा को हिस्सेदारी क्यों नहीं दी जाती।
मालूम हो कि अमित शाह और नीतीश कुमार की मौजूदगी में बीजेपी और जेडीयू के बीच बराबर संख्या में सीटों के बंटवारे के एलान के बाद कुशवाहा कैंप में नाराजगी है। इस एलान के ठीक बाद अरवल में तेजस्वी यादव के साथ कुशवाहा की मुलाकात ने सियासी कयासों को हवा दे दी थी लेकिन मंगलवार को कुशवाहा ने एनडीए छोड़ने संबंधी अटकलों पर विराम लगा दिया था। जेडीयू-बीजेपी के बीच 50-50 के फॉर्मूले के तहत माना जा रहा है कि दोनों दल 17-17 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। राम विलास पासवान की लोजपा को चार सीटें मिलेंगी और रालोसपा को दी सीटों से संतोष करना पड़ेगा। उपेंद्र कुशवाहा ने सीट शेयरिंग पर कहा कि, “जेडीयू और बीजेपी ने ये तो कहा है कि वे बराबर सीटों पर लड़ेंगे लेकिन संख्या का खुलासा नहीं किया है, इसलिए देखते हैं आगे क्या होता है।”
SOURCE - MAI BIHARI

No comments