आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

बालिका गृह : मुजफ्फरपुर में ब्रजेश के घर को ध्वस्त की कार्रवाई को ले सीबीआइ सक्रिय

मुजफ्फरपुर (जेएनएन) । बालिका गृह मामले के मुख्य आरोपित ब्रजेश ठाकुर के मुजफ्फरपुर के साहू रोड स्थित भवन को ध्वस्त किए जाने को लेकर सीबीआइ भी सक्रिय हो गई है। इसी भवन में बालिका गृह का संचालन किया जा रहा था। सीबीआइ अधिकारी नगर निगम पहुंचकर व नगर आयुक्त संजय दुबे को एक पत्र सौंपा। इसमें उनसे ब्रजेश की इस भवन का नक्शा, इसे ध्वस्त किए जाने को लेकर अब तक की कार्रवाई, इसके मालिकाना हक रखने वाले की आधिकारिक जानकारी मांगी है। à¤¬à¤¾à¤²à¤¿à¤•à¤¾ गृह : मुजफ्फरपुर में ब्रजेश के घर को ध्वस्त की कार्रवाई को ले सीबीआइ सक्रिय
10 नवंबर तक की मिली है डेडलाइन
जिलाधिकारी की ओर से 29 अक्टूबर को आदेश मिलने के बाद ही नगर आयुक्त ने दो टीम गठित कर दी। इस टीम ने भवन की मापी की तथा इसका नक्शा उपलब्ध कराने के लिए ब्रजेश ठाकुर को नोटिस जारी किया। नोटिस लेने जब कोई परिजन सामने नहीं आया तो 30 सितंबर को नगर निगम की ओर से बालिका गृह वाले भवन के मुख्यद्वार पर नोटिस चस्पा दिया गया। इसमें उन्हें 24 घंटे का समय दिया गया। अगले दिन ब्रजेश ठाकुर की मां मनोरमा देवी इस भवन को बचाने के लिए सामने आईं। अपने जवाब में कहा कि नक्शा व जमीन संबंधी अन्य कागजात सीबीआइ ले गई है।
 बालिका गृह सीलबंद है। सभी कार्य देख रहा उसका बेटा ब्रजेश जेल में है। सीबीआइ जांच के क्रम में कई कागजात इधर से उधर हो गए हैं। ऐसे में उसने नक्शा व अन्य कागजात उपलब्ध कराने के लिए 30 दिनों की मोहलत मांगी थी। पहले तो निगम ने इस संबंध कोई निर्णय लेने से पहले समाज कल्याण विभाग से मार्गदर्शन मांगा फिर 10 दिनों की मोहलत दे दी। 
भवन को ध्वस्त किए जाने का आदेश जारी करेगा निगम
भवन का नक्शा उपलब्ध कराने के 10 नवंबर को तय डेडलाइन का नगर निगम इंतजार कर रहा है। इस डेडलाइन के अंदर अगर ब्रजेश ठाकुर की मां नक्शा उपलब्ध नहीं कराती हैं तो भवन को ध्वस्त करने का नगर निगम आदेश जारी करेगा। इस भवन से जुड़े साक्ष्यों को लेकर कोई आपत्ति न हो इसके लिए सीबीआइ से भी अनुमति मांगी जाएगी। 
12 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई
सीबीआइ अधिकारी ने नगर आयुक्त को बताया कि भवन को ध्वस्त की कार्रवाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनेवाली है। इससे पहले सीबीआइ कार्रवाई की लेकर सक्रिय है, ताकि सुप्रीम कोर्ट को वह इसकी जानकारी दे सके।
वार्ड-40 के मतदाता सूची खोज रही सीबीआइ
सीबीआइ नगर निगम के वार्ड-40 की मतदाता सूची खोज रही है। उसके निशाने पर चाइल्ड होम भी है। मतदाता सूची के माध्यम से इसके संचालक की संबंध में जानकारी जुटाने का वह प्रयास कर रही है। सीबीआइ को आशंका है कि यह संस्था भी ब्रजेश की है। इसकी जानकारी लेने के लिए सीबीआइ की टीम वार्ड-40 में घूम कर जानकारी ली।  
Posted By: Ajit Kumar

No comments