आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

जगह के अभाव में समस्तीपुर रेल फैक्ट्री में नहीं शुरू हुआ ‘ट्रेन कोच’ बनाने का काम, 63 करोड़ वापस

PATNA : स्थानीय रेलवे यांत्रिक कारखाना में पुराने माल डब्बा को नया करने की योजना (पीओएच) खटाई में पड़ गई है। दो-दो बार सर्वे कराने के बाद कारखाना के अंदर जमीन के अभाव को देखते हुए योजना को वर्कशॉप वर्क ऑर्गेनाइजेशन ने सरेंडर कर दिया है।
माना जा रहा है कि पीओएच के लिए आवंटित हो जाएगी। करीब तीन वर्ष पहले यांत्रिक कारखाना में पीओएच निर्माण की स्वीकृति देते हुए मंत्रालय ने राशि का आवंटन किया था। हालांकि 1881 में स्थापित इस कारखाना के विकास के लिए मुख्य कारखाना प्रबंधक ने जीर्णोद्धार की योजना बनाई है। ताकि आवंटित राशि का उपयोग कर कारखाना को पहले से बेहतर बनाया जा सके। पूर्व से कारखाना में जारी बॉक्शन एचएल व सी कैटेगरी मरम्मत कार्य की गति को और बढ़ाया जा सके। हालांकि स्थानीय रेलवे यूनियन के नेता किसी भी कीमत पर यहां माल डब्बे के पीओएच कार्य शुरू करने हाजीपुर से दिल्ली तक की दौड़ लगा रहे हैं। समस्तीपुर रेल विकास विस्तार मंच इस मुद्दे को लेकर धरना प्रदर्शन भी कर चुका है। समस्तीपुर रेलवे यांत्रिक कारखाना।

यांत्रिक कारखाना में इन दिनों स्टेनलेस स्टील के बॉक्शन एचएल का निर्माण किया जाता है। यह पूर्व मध्य रेलवे का इकलौता कारखाना है जहां स्टेनलेस स्टील का बॉक्शन एचएल का निर्माण किया जाता है। औसतन 10-12 बॉक्शन वैगन का निर्माण प्रत्येक महीना हो रहा है। इसके अलावा सी कैटेगरी मरम्मत कार्य की गति को तिगुना किया गया है। क्या है पीओएच निर्माण की योजना : मंत्रालय ने पीओएच निर्माण के लिए पूर्व मध्य रेलवे के समस्तीपुर यांत्रिक कारखाना का चुनाव किया था। इसके तहत पुराने डब्बे को फिर से नया जैसा बनाकर माल ढोने के लायक बनाने की योजना को पीओएच कहते हैं। योजना से बाजार के कारोबार पर पड़ता असर : पीओएच निर्माण शुरू करने के लिए कर्मचारियों की संख्या बढ़ाई जाती। कारखाना का विस्तारीकरण होने से इसका सीधा असर समस्तीपुर के व्यवसाय पर पड़ता। वर्कशॉप ऑर्गेनाइजेशन, पटना ने सर्वे में माना है कि यांत्रिक कारखाना में माल डब्बा निर्माण के लिए जगह पर्याप्त नहीं है।
रेलवे ने बजट में पीओएच योजना को स्वीकृति मिली थी, लेकिन स्थानीय पदाधिकारी जानबूझ कर जगह का अभाव बता रहे हैं। पीओएच कार्य के लिए आंदोलन जारी रहेगा। –शत्रुधन प्रसाद, संयोजक, समस्तीपुर रेल विस्तार विकास मंच
पीओएच निर्माण के लिए कारखाना में प्रर्याप्त जगह नहीं है। वर्कशॉप ऑर्गेनाइजेशन पटना की टीम दो-दो बार कारखाना का सर्वे कर चुकी है। सर्वे में माना गया है कि जगह की कमी के कारण यहां पीओएच कार्य संभव नहीं है। पिछले दिनों कारखाना निरीक्षण को आये जीएम एलसी त्रिवेदी ने भी कारखाना में पीओएच कार्य के बदले कारखाना का उत्पादन बढ़ाने को कहा था। –आरके जैन, डीआरएम, समस्तीपुर
The post जगह के अभाव में समस्तीपुर रेल फैक्ट्री में नहीं शुरू हुआ ‘ट्रेन कोच’ बनाने का काम, 63 करोड़ वापस appeared first on Mai Bihari.
The post जगह के अभाव में समस्तीपुर रेल फैक्ट्री में नहीं शुरू हुआ ‘ट्रेन कोच’ बनाने का काम, 63 करोड़ वापस appeared first on Live Bihar.

Recent Posts:

Recent Posts:


No comments