आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

बिहार के ऊर्जा मंत्री ने कहा - छह दशक बाद कोसी और मिथिलांचल सड़क से जुड़े


ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने कहा है कि छह दशक बाद कोसी और मिथिलांचल का सड़क मार्ग से जुड़ाव हुआ है। 27 दिसंबर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जिस सड़क और पुल का उद्घाटन किया, उससे समस्तीपुर का सहरसा से सड़क मार्ग से जुड़ाव हो गया। महिषी से सहरसा के जुड़ने से लोगों को 70 किलोमीटर कम सफर तय करना होगा।
शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत में ऊर्जा मंत्री ने कहा कि 1952 में हुए आम चुनाव के बाद अब तक 66 साल हो चुके हैं, इस दौरान नीतीश कुमार पहले मुख्यमंत्री हुए जिन्होंने सड़क मार्ग से कोसी और मिथिलांचल का सफर तय किया। यह पुल इस इलाके के लिए ऐतिहासिक है। 
उन्होंने कहा कि आजादी से लेकर 2005 तक कोसी इलाके में मात्र तीन पुल थे, जबकि मात्र 13 वर्ष के शासनकाल में नीतीश कुमार ने आधा दर्जन पुल इस इलाके को दिए। इससे मुख्यमंत्री और सरकार की कार्यशैली को समझा जा सकता है। मानसी से सहरसा होते हरदी चौघरा पथ का निर्माण होगा। खगड़िया से शुरू होने वाली यह सड़क सहरसा और मधेपुरा होते हुए सुपौल में एसएच 66 में मिलेगी। 75 किमी लंबी इस सड़क में पुल भी बनेगा। बागमती, कमला, मृत कोसी और कोसी में पुल बनना है। चार आरओबी भी बनेंगे। पुल और सड़क बनने से लोगों को पटना आने में सुविधा होगी। बरौनी खाद कारखाना चालू होने पर इस इलाके में किसानों को खाद ले जाने में सुविधा होगी। कात्यायनी मंदिर लोग अभी नाव से जाते हैं। सड़क और पुल बनने से लोग वहां आराम से जा सकेंगे। 1426 करोड़ की लागत से बनने वाली इस सड़क और पुल का डीपीआर बन चुका है । एडीबी से वित्तीय सहयोग लेकर इसका निर्माण शुरू होगा। 
सोरर्स -लाइव हिंदुस्तान 

Recent Posts:

Recent Posts:

No comments