आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

IIT पटना ने बनाई साइकिल जो उठा सकती है 150 किलो का भार,अधिकतम स्पीड 25 से 30 किलोमीटर प्रति घंटा होगी।






आईआईटी पटना ने साधारण साइकिल का इलेक्ट्रिक मॉडल बनाया है। इसकी अधिकतम स्पीड 25 से 30 किलोमीटर प्रति घंटा होगी। बैट्री से चलने वाली यह हाइब्रिड साइकिल 150 किलो तक का भार भी उठा सकती है। यह पैडल और बैट्री दोनों से चलेगी। इसकी कीमत 10 से 12 हजार रुपए होगी। आईआईटी पटना अब इसके मॉडल को पेटेंट कराने के लिए आवेदन देने की तैयारी में है। भीड़-भाड़ वाले इलाकों में यह साइकिल बाइक का सस्ता विकल्प साबित हो सकती है।

इलेक्ट्रिकल विभाग के अध्यक्ष डॉ. आरके बेहरा ने बताया- सीधी हैंडल वाली साइकिल में बदलाव कर इसे बनाया गया है। ट्रायल सफल रहा है। इसमें उच्च क्षमता का मोटर लगा है। इससे यह ऊंचाई पर भी आसानी से चढ़ सकती है।
ब्रेक हो रहा डिजायन
अब ब्रेक का डिजाइन तैयार किया जा रहा है, जो तेज गति में भी इसे आसानी से रोक सके। अगले दो से तीन महीने में इसे लॉन्च करने की तैयारी चल रही है। इसके लिए साइकिल कंपनियों से भी बात चल रही है।
महंगे पेट्रोल व बढ़ते प्रदूषण ने दिखाया रास्ता
संस्थान के इलेक्ट्रिकल विभाग के छात्रों और शिक्षकों ने यह साइकिल तैयार की है। इस टीम में मयंक मनोहर, अभिषेक और पवन कुमार मीणा भी शामिल हैं। टीम के सदस्य व मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग के छात्र अभिषेक यादव ने बताया कि दिन-ब-दिन महंगे हो रहे पेट्रोल व बढ़ते प्रदूषण के कारण ऐसी हाइब्रिड साइकिल बनाने का आइडिया आया।
क्या है खासियत
अभिषेक के अनुसार, कई विदेशी कंपनियों की साइकिलें भारतीय सड़कों के अनुकूल नहीं हैं। लेकिन, यह साइकिल पूरी तरह भारतीय सड़कों के अनुकूल होगी। विदेशी ई-साइकिल की कीमत 30 से 40 हजार रुपये है। जबकि इसकी कीमत 10 से 12 हजार रुपये होगी। इस साइकिल में 24 वोल्ट की बैट्री, 350 वाट के 300 आरपीएम क्षमता वाले मोटर का इस्तेमाल किया जा रहा है। इससे बढ़ते प्रदूषण से भी निजात मिलेगी।
इसलिए अलग होगी यह साइकिल
-आम तौर पर साइकिल में मैकेनिकल ब्रेकिंग सिस्टम होता है, जबकि इसमें इलेक्ट्रिकल ब्रेकिंग सिस्टम होगा। यानी ब्रेक लेने के लिए स्वीच सिस्टम काम करेगा।
बैट्री ऑटोमेटिक भी चार्ज होगी। जब साइकिल ढलान पर तेज गति से चलेगी तो बैट्री अपने आप चार्ज होती रहेगी। इसको बिजली से चार्ज करने की मजबूरी नहीं रहेगी।
-पावर एफिसिएंसी कन्वर्टर लगने से बैट्री ज्यादा समय तक पूरी क्षमता के साथ चलेगी। यही कारण है कि एक बार चार्ज होने पर 50 किलोमीटर तक चलेगी।
-यह साइकिल डेढ़ क्विंटल तक का वजन उठा सकती है।
-इसकी कीमत 10 से 12 हजार रुपए होगी।

No comments