आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

घाट नंबर 93 पर बीच जैसा दिखेगा नजारा, 48 घंटे में बदली स्थिति, 3 किलोमीटर घाट तैयार

घाट नंबर 93 पर बीच जैसा दिखेगा नजारा, 48 घंटे में बदली स्थिति, 3 किलोमीटर घाट तैयार

छठ के दिन जेपी सेतु से बीच जैसा नजारा दिखेगा। जेपी सेतु के पूरब में 2 किमी और पश्चिम में 1 किमी तक गंगा तट पर भगवान को अर्घ्य देने वालों का हुजूम उमड़ेगा। पुल की दोनों तरफ सूर्यास्त के बाद जगमग लाइट और दीपक की रोशनी दिखेगी। 

सेतु के पश्चिम लगभग 1 किलोमीटर की दूरी में फैले जनार्दन घाट, मीनार घाट, शिवाघाट, पाटीपुल घाट होगा। इन घाटों की तैयारी 70% पूरी हो चुकी है। वॉच टावर के साथ पार्किंग, चेजिंग रूप के लिए जगह को निर्धारित कर बांस-बल्ला बांध दिया गया है। पानी में बल्ला लगाने का काम शुरू हो चुका है। वहीं, सेतु के पूरब 93 नंबर घाट, 88 नंबर घाट, 83 नंबर घाट है। इन घाटों की तैयारी भी एप्रोच रोड बनने के साथ 60% तक पूरी हो गई है।
जिला प्रशासन की टीम यहां 18 घंटे काम कर रही है। महज 48 घंटे में घाट नंबर 93 की सूरत ही बदल गई है। घाट किनारे रखा जाने वाला स्लैब बीएसआरडीसी ने हटा दिया है। रास्ते से गाद को हटाने के बाद बालू बिछाकर एप्रोच रोड बनाया जा रहा है। घाट के किनारे वॉच टावर, चेंजिग रूम, कंट्रोल रूम के साथ पानी के अंदर बल्ला लगाया जा रहा है। यहां मुख्य एप्रोच रोड के पश्चिम दो एप्रोच रोड बनाए जा रहे हैं। जेपी सेतु से सटे ठीक पूरब एक और चिमनी के पास से एक एप्रोच रोड तैयार हो रहा है।

छठ घाटों के 21 सेक्टर को चार भाग में बांटा जाएगा। इसकी निगरानी नियंत्रण कक्ष से होगी। इसके प्रभारी पदाधिकारी जिला प्रशासन के पीजीआरओ सुधीर कुमार व अपर नगर आयुक्त देवेंद्र तिवारी होंगे। नियंत्रण कक्ष में प्राप्त होने वाली सूचना को दर्ज कर निष्पादन के लिए संबंधित पदाधिकारी को देंगे। वहीं, वाट्सएप ग्रुप के साथ अन्य माध्यमों से आने वाली सूचनाओं को हर दिन वरीय पदाधिकारी को देकर निष्पादित कराएंगे। मंगलवार को समीक्षा बैठक के बाद प्रमंडलीय आयुक्त ने विशिष्ट अनुभाजन पदाधिकारी को विशेष नियंत्रण कक्ष स्थापित करने का निर्देश दिया है।

उन्होंने कहा कि छठ घाट पर चलने वाली तैयारियों की हर दिन शाम 6 बजे समीक्षा होगी। डीएम को समीक्षा कर कार्य की प्रगति की जानकारी लेने का निर्देश दिया गया है। सभी सेक्टर प्रभारी को घाटों के नाम के साथ फ्लैक्स लगाने, सफाई करने, अनुपयोगी घाट पर लाल कपड़ा लगाने का निर्देश दिया गया है। सिंचाई विभाग के अधीक्षण अभियंता और नगर निगम आयुक्त को खतरनाक घाट की पहचान कर निर्णय लेने और इन घाटों की बैरिकेडिंग करा कर बंद करने का निर्देश दिया। इस मौके पर डीएम कुमार रवि, नगर आयुक्त अमित कुमार पांडेय, ट्रैफिक एसपी डी अमरकेश, अपर नगर आयुक्त शीला र्इरानी सहित सभी संबंधित विभागों के वरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।
भगवान भास्कर को अर्घ्य देने के लिए घाट नंबर 93 पर गाड़ी से सपरिवार आने वाले व्रतियों के लिए पार्किंग की पूरी व्यवस्था मिलेगी। यहां लगभग 1 किमी क्षेत्र में पार्किंग की व्यवस्था की गई है। पार्किंग में गाड़ी खड़ी कर आसानी से व्रती सपरिवार गंगा घाट पर पहुंच सकेंगे।

कलेक्ट्रेट घाट पर एप्रोच रोड के निर्माण की रफ्तार लगातार तेज हो रही है। सीढ़ियों से गाद हटाने के साथ नाले के पानी को निकालने के लिए ह्यूम पाइप लगाया जा रहा है। वहीं बांसघाट पर एप्रोच रोड का निर्माण कार्य धीमी गति से चल रही है। तेज धूप से मिट्टी के ठोस होने के बाद निर्माण में तेजी आएगी।

No comments