आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

Delhi Assembly Election : बिहार में प्यार पर दिल्ली में पड़ सकती है BJP और JDU के बिच दरार

Delhi Assembly Election : बिहार में प्यार पर दिल्ली में पड़ सकती है BJP और JDU के बिच दरार 

Delhi Assembly Election में जनता दल यूनाइटेड (JDU) अपने प्रत्याशी उतारेगा। पार्टी सुप्रीमो व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) इसके लिए आज से चुनाव प्रचार (Election Campaign) आरंभ कर रहे हैं। बुधवार को दिल्ली के बिहारी बहुल बदरपुर (Badarpur) में उनका कार्यकर्ता शिविर होगा। खास बात यह कि बिहार में राष्ट्रीेय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के तहत भारतीय जनता पार्टी (BJP) व लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) से तालमेल कर चुनाव लड़ रहा जेडीयू दिल्ली में बीजेपी के खिलाफ ताल ठोक रहा है।
Delhi Assembly Election : बिहार में प्यार पर दिल्ली में पड़ सकती है BJP और JDU के बिच दरार 
सभी 70 सीटों पर तैयारी कर रही पार्टी
दिल्ली विधानसभा चुनाव को ले जेडीयू ने अपनी तैयारियां आरंभ कर दी है। इसी कड़ी में बुधवार को बदरपुर में जेडीयू का कार्यकर्ता शिविर हो रहा है। बताया जा रहा है कि दिल्‍ली विधानसभा चुनाव में सभी 70 सीटों पर जेडीयू अपने उम्मीदवार देगा। जेडीयू के दिल्‍ली प्रदेश अध्‍यक्ष दयानंद राय (Dayanand Rai) कहते हैं कि उनकी पार्टी सभी 70 सीटों पर तैयारी कर रही है। हालांकि, पार्टी के बिहार प्रदेश अध्‍यक्ष वशिष्‍ठ नारायण सिंह (Vashishtha Narayan Singh) कहते हैं कि पार्टी चुनिंदा सीटों पर उम्‍मीदवार देगी।
27 सीटों पर पूर्वाचल के मतदाताओं का दबदबा
दिल्‍ली की 70 में से करीब 27 सीटों पर बिहार व पूर्वाचल के मतदाताओं का दबदबा है। ऐसे में माना जा रहा है कि अगर चुनिंदा सीटों पर उम्‍मीदवार देने की बात हुई तो बिहार व पूर्वाचंल के मतदाताओं के दबदबा वाली 27 सीटों पर जेडीयू उम्‍मीदवार दे सकता है।
आप्रवासी बिहारियों के सवालों को मुद्दा बनाएगी पार्टी
दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देना और अनाधिकृत कॉलोनियों को अधिकृत करना पार्टी के मुख्य मुद्दे होंगे। जेडीयू दिल्ली में रह रहे पूर्वांचल के लोगों की बदहाली को विधानसभा चुनाव में प्रमुखता से उठाएगा। ये मुद्दे आप्रवासी बिहारियों (Immigrant Biharis) से सीधे जुड़े हैं।
बिहारियों के पास प्रमुख दलों की कमान
दिल्ली में बिहार और पूर्वांचल के लोगों की संख्या विधानसभा चुनाव परिणाम को प्रभावित करने की स्थिति में है। यही कारण है कि बीजेपी और कांग्रेस (Congress) दोनों ने दिल्ली की कमान बिहारियों को दे रखी है। जेडीयू के दिल्‍ली प्रदेश अध्‍यक्ष दयानंद राय भी मूलत: बिहार के दरभंगा के निवासी हैं।
दिल्‍ली में पैठ बनाने की कोशिश में जेडीयू
जेडीयू विधानसभा चुनाव के रास्‍ते दिल्‍ली में पैठ मजबूत करने की कोशिश में है। इसके लिए उसे बीजेपी से भी संघर्ष करना होगा। हालांकि, पार्टी के लिए यह नई बात नहीं। बिहार के बाहर जेडीयू व बीजेपी में चुनावी टक्‍कर होती रही है। बिहार के पड़ोसी राज्‍य झारखंड (Jharkhand) में भी ऐसा ही हुआ है। अब अगली बारी दिल्‍ली की है।


No comments