आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

सज गया अयोध्या : 70 साल बाद आज रामलला को 56 भोग लगेगा NEW YEAR SPECIAL

सज गया अयोध्या : 70 साल बाद आज रामलला को 56 भोग लगेगा NEW YEAR SPECIAL


बरसों से चल रहा इंतजार अब खत्म हो रहा है। 9 फरवरी के पहले केंद्र सरकार राममंदिर ट्रस्ट का गठन कर देगी। इसी साल 2 अप्रैल को रामनवमी पर मंदिर निर्माण शुरू होने की उम्मीद है। खास बात यह है कि आज नए साल के पहले दिन रामलला को 56 तरह के फल-मेवे और पकवान का भोग लगाया जाएगा। रामलला विराजमान के मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास ने कहा कि अदालतों में मुकदमों के 70 साल चले दौर के बाद पहली बार रामलला को 56 भोग लग रहा है। आज उन्हें हरे रंग के नए वस्त्र पहनाने का दिन है।


साल के पहले दिन रामलला और हनुमानगढ़ी के दर्शन करने करीब 70 हजार से ज्यादा श्रद्धालु पहुंचने की उम्मीद है। सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद यहां रोज करीब 18 हजार लोग आ रहे हैं। पहले संख्या 10-12 हजार होती थी। यहां हर 15 दिन में दानपेटी खोली जाती है। इसमें चढ़ावा पहले से दोगुना होकर 6 लाख रुपए तक पहुंच गया है। अयोध्या के सभी होटल और धर्मशालाएं दो दिन पहले से ही फुल हैं। 
मस्जिद के पैरोकार रहे इकबाल अंसारी ने भास्कर को बताया कि वो नए साल पर रामलला विराजमान के मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास से मिलेंगे। उनसे निवेदन करेंगे कि वे उनकी तरफ से रामलला से प्रार्थना करें कि जल्द से राम मंदिर निर्माण शुरू हो और देश में सुख-शांति रहे। इस बीच, श्रीरामलला विराजमान शहर के नए स्वरूप, ढांचागत सुविधाओं का खाका तैयार करने के लिए केंद्र और राज्य सरकार के अफसरों की टीम यहां बार-बार दौरा कर रही हैं। टीम के एक अफसर ने बताया कि श्रीरामलला विराजमान शहर का दायरा 100 एकड़ में होगा। आसपास के राजस्व ग्राम जुड़ जाएंगे। तिरुपति और वेटिकन की तर्ज पर इसे विकसित किया जाएगा। अयोध्या में 9 प्लेटफॉर्म वाला नया स्टेशन बनाने की योजना है।
फंड देगी सरकार, नए मंदिर में 12वीं सदी का स्वरूप भी नजर आएगा
ढांचागत विकास के लिए सरकार, मंदिर के लिए जनसहयोग से फंड 

श्रीरामलला शहर के ढांचागत विकास के लिए केंद्र सरकार फंड देगी, जबकि मंदिर निर्माण के लिए रामलला ट्रस्ट जनसहयोग से धन जुटाएगा। केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय मंदिरों को रखरखाव के लिए राशि देता है। सरकार बजट में भी अलग से फंड दे सकती है।  
विक्रमादित्य के बनाए मंदिर के फर्श से जुड़ेगा नया मंदिर

नए राम मंदिर में पुराने मंदिर की झलक मिलेगी। 12वीं सदी में विक्रमादित्य ने यहां भव्य राम मंदिर बनवाया था। इसके अवशेष खुदाई में मिले हैं। फर्श का हिस्सा अभी भी मौजूद है। ये पौराणिक अवशेष भी नए राम मंदिर का हिस्सा होंगे। 
राम वाटिका के बीच नया मंदिर, लेजर शो, म्यूजियम भी होगा

अयोध्या के राम मंदिर में लेजर शो से रामचरित्र का बखान होगा। परिसर में ही म्यूजियम बनेगा, जिसमें मंदिर के पौराणिक अवशेष संरक्षित रखेे जाएंगे। इसके प्रसादालय की राम रसोई में लंगर चलेगा। मंदिर परिसर में ही शेषावतार मंदिर भी बनेगा।

आपको ये जानकारी कैसी लगी? यदि अच्छी लगी हो तो फटाफट हमारे youtube चैनेल को सब्सक्राइब कर लीजिये क्युकी वंहा ही हम आपके लिए ऐसी रोचक जानकारी लाते रहते है |


No comments