आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

Statue Of Unity ने कमाई के मामले में ताजमहल को पीछे छोड़ दिया है |

Statue Of Unity ने कमाई के मामले में ताजमहल को पीछे छोड़ दिया है |

जब statue ऑफ़ यूनिटी बनी थी तभी से यह लगातार चर्चा में रहा है | जंहा मजुदा सरकार ने और उसके समर्थको ने काम को सराहा तो वही | विपक्षी दलों ने इसको लेकर अलग अलग पर्तिक्रिया दिया था | विपक्षी दलों का मानना था की यह पैसे की बर्बादी है | जितना इसमें पैसा लगाया जा उतना पैसा इससे नहीं आ पायेगा लेकिन जो  Archaeological Survey of India द्वारा किए गए सर्वे में जो Report आई है वो चौकाने वाली है | 


पुरातत्व अध्ययन और सांस्कृतिक स्मारकों के अनुरक्षण के लिए उत्तरदायी आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया द्वारा किए गए सर्वे में कहा गया है कि Statue Of Unity देश के श्रेष्ठ 5 स्मारकों में सबसे ज्यादा कमाई करने वाला स्मारक बन गया है। इसके तहत Tajmahal ने जहां एक साल में Ins 56 Cr. की कमाई की है तो Statue Of Unity ने Ins 63 cr.  की कमाई की। बता दें कि बीते 31 अक्टूबर को ही स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी को बने एक साल पूरा हुआ है।


दरअसल, सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी 182 मीटर ऊंची (597 फीट) है और ये दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा है। खास बात यह है कि इसे बनाने में 2,989 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं और इसे लार्सन एंड टुब्रो कंपनी ने बनाया है। ये मूर्ति सरदार सरोवर बांध से 3.2 किलोमीटर दूर साधू बेट नाम के स्थान पर है जो नर्मदा नदी पर एक टापू है। इस मूर्ति को बनाने में 3000 से ज्यादा लोग और 250 से ज्यादा Engineer ने काम किया

No comments