आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

Uddhav Thakre की BJP को चुनौती, हिम्मत है तो गिराकर दिखाओ सरकार। Crisis में Maha vikas aghadi govt

Uddhav Thakre की BJP को चुनौती, हिम्मत है तो गिराकर दिखाओ सरकार। Crisis में Maha vikas aghadi govt


महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार में खटपट की खबरों की बीच शिवसेना नेता और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भाजपा को प्रदेश की गठबंधन सरकार को गिराने की चुनौती दे डाली है। इस साल अप्रैल में महाराष्ट्र में 'Operation Lotus' की अटकलों के बीच विपक्ष पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को बीजेपी को खुली चुनौती दी है। सीएम उद्धव ठाकरे ने बीजेपी से कहा है कि अगर उनमें हिम्मत है तो महाराष्ट्र विकास आघाडी (एमवीए) सरकार को गिराकर दिखाएं। महा विकास अघाड़ी शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस का गठबंधन है, जिसने पिछले साल नवंबर में महाराष्ट्र में सरकार बनाई थी।

ठाकरे ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार की मौजूदगी में जलगांव के मुक्तेई नगर में एक किसान रैली में कहा, ' अगर उनमें हिम्मत है तो वे महा विकास अघाड़ी को गिराकर दिखाएं। उन्होंनें कहा कि जब से हमने पदभार संभाला है, भाजपा लगातार हमारी आलोचना कर रही है। भाजपा नेता दावा करते रहे हैं कि हमारा गठबंधन लंबे समय तक नहीं रहेगा और वे सत्ता में लौट आएंगे। लेकिन सच तो ये है कि हम एक मजबूत सरकार के साथ एकजुट हैं।'

न्होंने कहा कि अगर आप (भाजपा) हमारी सरकार को गिराने के बारे में सोच रहे हैं, तो मैं आज आपको सरकार गिराने की खुली चुनौती देता हूं। मैं बाला साहेब ठाकरे का बेटा आपको चुनौती देना चाहता हूं। सीएम उद्धव ठाकरे का बयान महा विकास अघाड़ी के भीतर पनप रहे असंतोष के बीच आया है। महा विकास अघाड़ी में खटपट की खबरों के बीच भाजपा की ओर से इस तरह के बयान आए थे कि भाजपा इसका फायदा उठाकर अघाड़ी सरकार को गिराने के मौके तलाश रही है और अप्रेल में ऑपरेश लॉटस चलाया जाएगा। दरअसल पिछले दिनों दो ऐसे घटनाक्रम सामने आए हैं जिनसे महा विकास अघाड़ी में खटपट को बल मिलता है।

पहली खबर यह थी , महाराष्ट्र के एल्गार परिषद केस की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनसीपी) को सौंप दी गई है। इससे भी अहम बात ये है कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार ने इस फैसले को लेकर उद्धव ठाकरे सरकार की आलोचना की है।

कोल्हापुर में पत्रकारों से बातचीत में शरद पवार ने कहा कि केंद्र सरकार ने मामले की जांच पुणे पुलिस से लेकर एनआईए को सौंपकर ठीक नहीं किया क्योंकि कानून-व्यवस्था राज्य सरकार का विषय है।

IN ENGLISH

The Nationalist Congress Party (NCP) has started flexing its muscles in the Uddhav Thackeray government, especially on the NPR issue and the Bhima Koregaon case, which was handed over by the Thackeray government to the National Investigation Agency (NIA) to investigate. The NCP has now decided that a parallel probe would be conducted by the state into the case.The NCP has also resolved that some ‘questions’ in the National Population Register (NPR) will be ‘cleared’ among the three parties in the government –– the Shiv Sena, NCP and Congress –– and only then will it be included in the NPR exercise that would be taken up in the state.At the more than two-hour meeting in Mumbai, NCP chief Sharad Pawar addressed his party ministers and stressed the need to take a strong stand on core issues like the Bhima Koregaon violence and NPR issue.Maharashtra minority affairs minister Nawab Malik, who attended the meeting, told reporters later that home minister Anil Deshmukh will order an inquiry into the Bhima Koregaon case. “Within hours of the state government meeting to order an inquiry, the Centre decided to give the probe to the NIA. Section 10 of the NIA Act states that the state government can order a parallel probe in the same case that the NIA is investigating. So, our home minister Anil Deshmukh, after completing the formalities, will order a probe into it,” said Malik.



No comments