आप भी अपना विज्ञापन यंहा दिखा सकते है सिर्फ 500/-M में कॉल करे 9811695067






Breaking News

आप हमारे ब्लॉग पर बिहार से जुड़े खबर पढ़ सकते है !, आप भी हमें खबर भेज सकते है !| आप इस ब्लॉग पर अपने विचार स्वतंत्र रूप से रखे हम पाठको के साथ शेयर करेंगे ।

आखिर बिहार सरकार Migrants लेबर को Condom क्यों दे रही है |Why Condoms, Contraceptives For Migrants

आखिर बिहार सरकार Migrants लेबर को Condom क्यों दे रही है |Why Condoms, Contraceptives For Migrants

मामला बिहार के Quarantine सेंटर का जहाँ प्रवासी मजदूरो को कंडोम और  Contraceptives Pill दिए गए है अब ऐसा क्यों किया गया है इस बात को समझने के लिए आपको हमारी रिपोर्ट ध्यान से पढनी चाहिए | राज्य  भर के सभी  Quarantine सेंटर पर सेंटर छोड़ने वाले हजारों पुरुषों और महिलाओं को कोरोनोवायरस लॉकडाउन के बीच राज्य स्वास्थ्य स्वास्थ विभाग के तरफ से  कंडोम और गर्भनिरोधक गोलियां दी जा रही है |

अब जो जानकारी हम आपको दे रहे उसे The State Health Society के कार्यकारी निदेशक  ऑफिसर मनोज  कुमार ने मिडिया से मुखातिब होते हुए  बताया है | 
 
 2016 में राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण द्वारा प्रकाशित अंतिम आंकड़ों के अनुसार, राज्य में प्रति महिला 3.4 बच्चों पर सबसे अधिक प्रजनन दर है।

राज्य ने मार्च और नवंबर के बाद नौ महीनों में संस्थागत प्रसव में तेज वृद्धि देखी है जब हजारों प्रवासी श्रमिक त्योहारों के दौरान परिवार के साथ समय बिताने के लिए शहरों से घर लौटते हैं।

"हम कंडोम और गर्भ निरोधकों को वितरित कर रहे हैं जैसा कि हमने देखा है कि मार्च और नवंबर के नौ महीने बाद जब होली, दिवाली और छठ के लिए अधिकतम प्रवासी लौटते हैं, संस्थागत प्रसव में बड़ी वृद्धि होती है, लेकिन जो पूर्ववर्ती और बाद के महीनों में नीचे जाते हैं,"|

राज्य स्वास्थ्य सोसाइटी कंडोम और गर्भ निरोधकों के वितरण के लिए नोडल एजेंसी है। यह स्वास्थ्य मंत्रालय से सीधे प्राप्त धन के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है। श्री कुमार ने कहा कि कंडोम और गर्भनिरोधक वितरित करने का निर्णय "उच्चतम स्तर" पर लिया गया था।9+++++++++++++++++++++

No comments